“तुम्हारा उससे बहुत पुराना रिश्ता है रिश्ता क्या तुम जहाँ भी जाओ मन में एक अटूट विश्वास सा होता है वो तुम्हारे साथ है। तुम्हे नहीं पता की क्या रिश्ता है तुम्हार उनसे , बस एक बात हमेशा याद रखना वो हम सभी की सच्ची मंज़िल है। उनसे ही हम सभी का वजूद है ,वक़्त…

महाशिवरात्रि (शिव और माता पार्वती  ) अद्भुत विवाह फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को शिवरात्रि का उत्सव मनाया जाता है। इस दिन शिवलिंग के रुद्राभिषेक का महत्व माना जाता है और इस दिन भगवान शिव के पूजन और व्रत से सभी रोग और शारीरिक दोष समाप्त हो जाते हैं। इस वर्ष 4 march 2019  को महाशिवरात्रि…

राधा रानी भक्त गुलाब सखी श्री बरसाने में प्रेम सरोवर के मार्ग पर एक समाधी बनी हुई है। जिसे हर कोई गुलाब सखी(Gulab Sakhi) के चबूतरे(chabutra) के नाम से जानते है। एक भक्त का नाम गुलाब(Gulab)था। गुलाब एक गरीब मुस्लमान  था। श्री राधा रानी सब पर कृपा करती है। ये बात सभी भक्त जानते है। गुलाब…

भाव वाली कविता बिहारी जी के लिए एक भक्त का प्यार कौन कहता है नदियों के दोनों किनारे कभी मिल नहीं सकते हैं जब वो दरिया में जा कर गिरते हैं तो खुद ही मिल जाते हैं उम्मीद रखो जीवन में असंभव कुछ भी नहीं है मिला नहीं मिला इस बात भी उलझ कर रह…

राधा-कृष्ण प्रेम (Radha-Krishan love) राधा ही कृष्ण और कृष्ण ही राधा क्यों है ? राधा कृष्णा(radha krishna) कोई दो नहीं थे।  दुनिया की नज़रो में वो दो थे, लेकिन राधा जी के नज़रो में सिर्फ कृष्ण थे और कृष्ण जी की नज़रो में सिर्फ राधा जी थी। प्रेम सिर्फ पाने का नाम नहीं ना ही…

विरह भाव : श्री कृष्णा (shri Krishna)   विरह भाव : कृष्ण(krishna) कहते हैं अपने प्रेमी जनों का याद आना तो अच्छा है प्रिय जनों का स्वप्न आए तो अच्छा लगता है जब नंदबाबा यशोदा मैया पंच सखा गोपियों के स्वप्न तक तो कोई तकलीफ नहीं होती है पर जब उसमे श्री राधे जू का स्वप्न…

वृन्दावन की होली हे बिहारी जी , खुशबू आने लगी है अभी से रंगो और गुलालों की,   बुला लो अब वृन्दावन धाम कहीं जान न निकल जाये तुम्हारे दीवानो की। Tweet Share9 +1 Pin1Shares 10

श्री राधा जी का अवतरण कौन गा सकता है उस कृपा मई श्री जी के बारे में जिनका एक बार नाम लेने से तन मन पावन और पवित्र हो जाता है। धन्य है वो गोपी  ग्वाल संत ऋषि जिन्होंने सिर्फ नाम ही नहीं लिया बल्कि उनका दर्शन भी किया। आये जानते है सिर्फ राधा रानी…

वृन्दावन की होली प्रेम की होली वृन्दावन की होली प्रेम की होली होती है जंहा श्री कृष्णा ने राधा संग और गोपियों सखा संग रंग गुलालों की होली खेली। कहते है गुलालों के रंगो से और उसकी खुशबु से पुरे मथुरा वृन्दावन को हमेशा हमेशा के लिए खुशियों से भर दिया। मथुरा और वृन्दावन में…

उसकी मर्ज़ी से हो फिर उस बात पे कभी शक न हो। हमारे जीवन में जो भी घटित होता हैं, उसका कहीं न कहीं कुछ ख़ास Reason होते हैं | जिंदगी में सुख, दुःख, व सभी तरह की परेशानियों के आने का कोई न कोई मतलब जरूर होता हैं | कई बार हम ईश्वर के…