हमारी भारतीय संस्कृति हमें विरासत(virasat) में मिली है। 

भारतीय संस्कृति सनातन है जो हमेशा बनी रहेगी पर कई बार एक ऐसा समय आता है जब पश्चिमी हवा हमारे संस्कृतियों की महत्वता युवा पीढ़ियों के सामने से कम करने की कोशिश करती हैं और आज हमारे आस पास वह समय आ गया है जब पश्चिमी हवा आंधियों का रूप लेकर धीरे-धीरे हमारी युवा पीढ़ियों की तरफ बढ़ रही है और हमारी युवा पीढ़ी इसे सिर्फ हवा समझ कर इसका आनंद ले रही है

पश्चिमी हवायें जो हम युवा पीढ़ी से छीन रही है वह हमारा पहनावा हमारी मातृभाषा, bhartiya sanskriti हमारे संस्कार और हमारा सनातन धर्म, हमारी विरासत(hamari virasat) है जो हमारे देश का गौरव है अगर वक्त रहते ही हमने उसके बारे में नहीं सोचा तो शायद बहुत ही देर हो जाएगी।

हमारी विरासत(hamari virasat) अनमोल है :-

संस्कृति “और” परंपरा “भारत जैसे देश में अधिक महत्वपूर्ण हैं जो हमेशा अपनी समृद्ध संस्कृति और विरासत को संजो रही है और यह दुनिया भर में इसके लिए काफी प्रसिद्ध है। लेकिन ये बातें सिर्फ कागज पर हैं और धीरे-धीरे उनकी चमक खो रही है। क्यों?

  • भारत उसके लोगों द्वारा जाना जाता है हम, युवा पीढ़ी, भारतीयों के प्रतिनिधि हैं जो शब्द का सही अर्थ है। यहां तक कि इतिहास में, हम विभिन्न घटनाओं में आते हैं,
  • जहां भारत ने बदलाव के बारे में लाने के लिए नेतृत्व किया और भारत को ब्रिटिश्रुले से स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए नेतृत्व किया। हम, भारतीय युवा हमेशा भारत की शक्ति और अभिमान रहे हैं। हम भारत के गर्व और उसके विरासतों के हक़दार है  जो वास्तव में अपनी संस्कृति, इसकी विविधता, इसकी विशिष्टता में निहित है

  • भारत देश महान परंपरा, धर्म, अध्यात्म, साधना और भक्ति का देश है।भारत ही एक ऐसा है देश जो संत के द्वारा धन्य है और जहा संस्कृतियों( bhartiya sanskriti) और विरासतों का खजाना है हम आज बाहरी चमक में इतने खो गए है की हमें खुद की चमक नहीं दिखाई दे रही। हम सभी तो आज भी अपने देश में रह कर यहाँ के कई अद्भुत मंदिरो से कई ऐतिहासिक जगहों से कई संतो के जीवन से कई भक्तो के जीवन से और सबसे महतपूर्ण कितने he हो रहे चमत्कारों से अनजान है|

 

  • हम सभी में न जाने की कोशिश बहुत ज्यादा हो गयी है हमें सिर्फ घूमने से मतलब है पर हम सभी को एक छोटी से कोशिश करनी होगी  जहा भी जाये उसके बारे में जाने वह की स्टोरी क्या है वो जगह क्यों बनी.
  • हमारे देश में  अतिप्राचीन वक्त से श्रद्धां-स्थल के रूप में मंदिर बहुत महत्व रखते रहे हैं। यहां पर बहुत से मंदिर ऐसे भी हैं। जहा अविश्वसनीय चमत्कार भी होते बताए जाते हैं। इस देश में आस्थावानों के लिए चमत्कार ईश्वर कृपा हैं। और विज्ञान के दृष्टि से देखने वालो के लिए आश्चर्य और जिज्ञासा का विषय हैं।

ये सही बात की हम सभी देश की उन्नति के लिए काम कर रहे है और एक दिन इसमें सफल जरूर होंगे| पर हमारे देश का सबसे महत्पूर्ण अंग हमारी संस्कृति और विरासते(hamari virasat) है जिसको हमें नहीं भूलना  है .

हम सभी काम कर रहे है क्यूंकि हम सभी चाहते है आने वाली भविष्य के पीढ़ियों के लिए एक सुनहरा धरोहर हम छोड़ कर जाये| 

लेकिन अगर आज हमारी नज़रो में ही हमारे देश की विरासतों की कोई कीमत नहीं उसका उपयोग नहीं तो हम सभी को त्यार हो जाना चाहिए की आने

वाली भविष्य की पीढ़ियों हमारे देश की अनमोल विरासतों को अनउपयोगी और व्यर्थ किसी काम की नहीं है यही समझेगी और कहेगी| 

फैलाये अपनी भारतीय हमारी विरासतों(hamari virasat) की जानकारी को उसकी महत्त्व को  जिससे की आने वाली future generations भी समझ सके हमारी भारतीय संस्कृति को, मंदिरो की महत्त्व को , संतो की सिख को, ऐतिहासिक जगहों को , भारतीय पहनाबे को  इन सभी बातो को ।

Our Mission:-

Create the Golden e-Indian cultural values and Golden e-Heritage for the present youth And upcoming future youth generation’s. With It Also spread God/spiritual glory. On which they can build their lives further with own Indian cultural/spirituality.

वर्तमान युवाओं और आगामी भविष्य की युवा पीढ़ी के लिए सुनेहरा  ई-भारतीय सांस्कृतिक मूल्य और सुनेहरा ई-विरासत बनाना है। और साथ ही भगवान / आध्यात्मिक की  महिमा को  भी युवा पीढ़ियों तक फैलाना है। जिससे  वे अपने जीवन को अपने भारतीय सांस्कृतिक / आध्यात्मिकता के साथ आगे बढ़ा सकते हैं।

हमारी विरासत

                                                    अंधकार से प्रकाश की ओर का सफर

[ratings]