दूधेश्वर महादेव मंदिर आरती

दूधेश्वर महादेव(dudheshwar mahadev) मंदिर की प्रभात आरती शिवनमावली बहुत ही अद्भुत है जब कई विद्वानों के एक साथ एक सुर में गया जाता है तब रोम रोम शिवमय भक्तिमई हो जाता है।

ॐ महादेव शिव: शंकर शम्भो उमाकांत हर त्रिपुरारे
मृत्युंजय वृषभद्वज शूलिनं गंगाधर मृड मदनारे
हर शिव शंकर गौरीशं वन्दे गंगाधर्मिशं ।
रूद्रम् पशुपति-मिशानम् कलए काशीपुरीनाथं ।।

जय शम्भो जय शम्भो शिव गौरीशंकर जय शम्भो ।।
जय शम्भो जय शम्भो शिव गौरीशंकर जय शम्भो ।।

शिव शिवेति शिवेति शिवेति वा
हर हरेति हरेति हरेति वा
भव भवेति भवेति भवेति वा
मृड मृडेति मृडेति मृडेति वा

ॐ भज मन शिवमेव निरन्तरं
ॐ रट मन शिवमेव निरन्तरं
ॐ स्मर मन शिवमेव निरन्तरं |||

Leave a Reply