25 amazing facts in Sanskrit language - हमारी विरासत
25 amazing facts in Sanskrit language संस्कृत भाषा के रोचक तथ्य

25 amazing facts in Sanskrit language संस्कृत भाषा के रोचक तथ्य

ये सभी जानते है की संस्कृत विश्व की सबसे प्राचीन भाषा (sanskrit bhasha) है लेकिन ये भी सच है वर्तमान में संस्कृत भाषा(sanskrit bhasha) विलुप्त होने की कगार पर हैं. 2001 में संस्कृत बोलने वाले लोगो की संख्या सिर्फ 14135 थी। और दुनिया जहाँ संस्कृत की महिमा समझकर संस्कृत सीखना चाह रही है स्कूल कॉलेज यूनिवर्सिटीज के पाठ्यक्रम में संस्कृत को जोड़ा जा रहा है। वही भारत हमारे देश में इस दिशा में कोई खास कदम नही उठा रहा है। आज हम आपको 25 amazing facts in sanskrit language संस्कृत के बारे में कुछ ऐसे रोचक तथ्य बताएँगे जिसे जानकर आपको अपनी देश की इस सबसे प्राचीन भाषा पे गर्व महसूस होगा।

  1. संस्कृत भाषा का जन्म भारतीय उपमहाद्वीप में हुआ था तथा संस्कृत को ही विश्व की पढ़ी, लिखी, समझी जाने वाली पहली भाषा का दर्जा प्राप्त है.
  2. विद्वानों के अनुसार संस्कृत भाषा को इंडो आर्यन परिवार की भाषा माना गया है.
  3. संस्कृत का विकास दो चरणों में हुआ है एक वैदिक संस्कृत जिसमें हमारे वेद धर्मशास्त्र, रामायण, महाभारत, उपनिषद आदि लिखे गए हैं और दूसरा पाणिनि रचित संस्कृत जिसमें अनेक अलौकिक ग्रंथ जैसे अभिज्ञान, शाकुंतलम्, पतंजलि आदि लिखे गए हैं.
  4. धरती पर सबसे पहली बोली जाने वाली अगर कोई हुई है तो तो है संस्कृत भाषा
  5. संस्कृत भाषा पूरी दिनिया मे सबसे पुरानी भाषाओ मे से एक है.
  6. संस्कृत भाषा को सभी भाषाओ की जननी माना जाता है.
  7. महाऋषियों ने हमारे सभी वेद की रचना यानी उन्हें संस्कृत भाषा मे ही लिखा.
  8. संस्कृत भाषा में पर्यायवाचीयों की भरमार है संस्कृत भाषा के एक शब्द के 100 से ज्यादा पर्यायवाची हैं जिनमें हाथी, घोड़ा आदि अनेकों शब्द शामिल है.
  9. रिसर्च में पाया गया है कि संस्कृत भाषा को पढ़ने से स्मरणशक्ति बढ़ती है.
  10. नासा के वैज्ञानिकों ने शोध में पाया कि संस्कृत भाषा का प्रयोग करके कंप्यूटर प्रोग्रामिंग को सरल बनाया जा सकता है तथा इस भाषा के उपयोग से कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में किसी भी प्रकार की त्रुटि होने की संभावना खत्म हो जाती है.
  11. संस्कृत भाषा की व्याकरण संपूर्ण, प्रभावशाली तथा त्रुटिरहित है.
  12. संस्कृत भाषा में विश्व की सभी भाषाओं की तुलना में सर्वाधिक शब्दकोश है. संस्कृत में लगभग 102 अरब 78 करोड़ 50 लाख शब्द है जो सभी भाषाओं से सर्वाधिक हैं.
  13. संस्कृत विश्व की एकमात्र ऐसी भाषा है जिसके शब्दों के क्रम में परिवर्तन होने से इसके अर्थ में कोई बदलाव नहीं आता.
  14. संस्कृत को देववाणी, सुरभारती आदि नामों से भी जाना जाता है.
  15. नासा के प्रसिद्ध विज्ञानिक रिक ब्रिक्स ने एक बार कहा था कि पूरी दुनिया की भाषाओं में संस्कृत ही एकमात्र स्पष्ट भाषा है.
  16. नासा के वैज्ञानिको द्वारा बनाए जा रहे 6th और 7th जेनरेशन Super Computers संस्कृत भाषा पर आधारित होंगे जो 2034 तक बनकर तैयार हो जाएंगे।
  17. संस्कृत सीखने से दिमाग तेज हो जाता है और याद करने की शक्ति बढ़ जाती है। इसलिए London और Ireland के कई स्कूलो में संस्कृत को Compulsory Subject बना दिया है।
  18. इस समय दुनिया के 17 से ज्यादा देशो की कम से कम एक University में तकनीकी शिक्षा के कोर्सेस में संस्कृत पढ़ाई जाती है।
  19.  नासा के वैज्ञानिकों के अनुसार, जब वह अंतरिक्ष में गए अंतरिक्ष यात्रियों को मैसेज भेजते थे तो उनके वाक्य उलट हो जाते थे इस समस्या के समाधान के लिए उन्होंने कई भाषाओं का प्रयोग किया लेकिन सभी भाषाओं में यह समस्या आई. आखिर में उन्होंने संस्कृत में मैसेज भेजा जिसे अंतरिक्ष यात्रिओ ने आसानी से पढ़ लिया क्योंकि संस्कृत के वाक्य उलटे हो जाने पर भी अपना अर्थ नहीं बदलते हैं.
  20. उनकी इस समस्या का समाधान संस्कृत भाषा के द्वारा हुआ.
  21. जर्मनी स्टेट यूनिवर्सिटी के शोध में पाया गया कि वर्तमान में सभी वार्षिक कैलेंडरों में हिंदू कैलेंडर सर्वाधिक प्रभावशाली है क्योंकि इस कैलेंडर में नया साल सौर प्रणाली के भूवैज्ञानिक परिवर्तन के साथ शुरू होता है.
  22. अमेरिका सुपर कंप्यूटर की अगली पीढ़ी को संस्कृत प्रोग्रामिंग के जरिए बना रहा है जिससे सुपर कंप्यूटर की गणनाशक्ति में कई गुना वृद्धि होगी.
  23. कर्नाटक के गांव माथुर के सभी लोग आज भी संस्कृत में ही वार्तालाप करते हैं.
  24. संस्कृत स्पीच थेरेपी में भी मददगार है यह एकाग्रता को बढ़ाती है।
  25. कर्नाटक के मुत्तुर गांव के लोग केवल संस्कृत में ही बात करते है.

sanskrit language origin

कर्नाटक के इस गांव में संस्कृत में होती है बात

कर्नाटक में एक ऐसा गांव है, जहां लोग सिर्फ संस्कृत में बात करते हैं। हालांकि, यह काफी हैरानी वाली बात है, लेकिन यह सच है कि कर्नाटक के गांव मत्तूर में लोग आम बोलचाल के लिए भी संस्कृत भाषा का ही प्रयोग करते हैं। प्राचीन समय से ही यहां पर संस्कृत भाषा का प्रयोग किया जा रहा है, इसलिए यहां के लोगों के जुबान पर यहीं भाषा चढ़ गई है।

संस्कृत में निकलता है अखबार

भारत में हर भाषा में अखबार निकाला जाता है, ताकि हर वर्ग और भाषा के लोग इसे पढ़ सके और समझ सकें। ऐसा ही संस्कृत के साथ है, दरअसल, साल 1970 से ही सुधर्मा नाम का अखबार निकाला जा रहा है, जो संस्कृत भाषा में ही होता है।

संस्कृत में एक शब्द के कई पर्यायवाची

संस्कृत में एक शब्द के कई पर्यायवाची होते हैं। जैसे ही, हिन्दी में हाथी एक शब्द है, लेकिन संस्कृत में इसके सौ पर्यायवाची होते हैं।

उम्मीद है आपको ये 25 amazing facts in sanskrit language पढ़कर अच्छा लगा होगा। अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी हो तो शेयर जरूर करे।
धन्यवाद

Leave your comment
Comment
Name
Email