माँ वैष्णो देवी मंदिर

माँ वैष्णो देवी मंदिर

Average Reviews

Description

वैष्णो देवी मंदिर(vaishno devi temple) में देवी वैष्णो देवी की सबसे बड़ी प्रतिमा है जो कि कई किलोमीटर की दूरी से दिखाई दे रही है। मां वैष्णो की मूर्ति जमीन से 141 फीट ऊंची है। यह मंदिर 11 एकड़ में बना हुआ है। इसमें देवी मंदिर, दर्शन गुफा, लंगर हॉल, फ्री डिस्पेंसरी, आध्यात्मिक हॉल और लाइब्रेरी बनाया गया है। इसका निर्माण 22 मई 2010 में पूरा हुआ था।
maa vaishno dham vrindavan
आप माँ की प्रतिमा के चारो और परिकर्मा कर सकते है। पर मेरा अनुभव ये है की जब आप वैष्णो माँ की इस दिव्य प्रतिमा के सामने खड़े होंगे तो आपके रोंगटे खड़े हो जायेंगे क्यूंकि ऐसा लगता है माँ शेर पे सवार होके साक्षात् आपके सामने खड़ी है।

प्रवेश के नियम :-

आपको मंदिर में मुफ्त लॉकर में कैमरा, मोबाइल, बेल्ट, पर्स आदि रखना होगा। आप अंदर ये सामान नहीं ले जा सकते मंदिर के अंदर कोई फोटोग्राफी नहीं है, हालांकि आप दूरी से बड़ी प्रतिमा की तस्वीर ले सकते हैं

गुफाओं में विराजमान है मां वैष्णो के नौ रूप :-

इस मंदिर में एक गुफा का निर्माण किया गया है, जहां माता के नौ रूपों को स्थापित किया गया है। इसके अलावा वहां भगवान गणेश और शिव जी की भी मूर्ति लगी हुई है। इस मंदिर में चमड़े की कोई भी वस्तु रखकर या पहनकर आने की सख्त मनाही है। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए अलग-अलग काउंटर भी बनाए गए हैं ताकि वह टिकट ले सकें और अपना सामान भी जमा कर सकें।

जम्मू के वैष्णो देवी की तर्ज पर वृंदावन में बने इस मंदिर की अपनी एक अलग मान्यता है। लोगों के अनुसार आज भी इस मंदिर की रक्षा हनुमान जी करते हैं। इस मंदिर में स्थापित मां की मूर्ति की ऊंचाई को लेकर इसका नाम लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है।

आरती का समय:-

Morning 5.30 AM to 6.00 AM
Evening 7.00 PM To 7.30 PM
अगर आप वृन्दावन जाये तो इस अद्भुत माँ वैष्णो ( maa durga mantra ) का दर्शन करना मत भूलियेगा। उम्मीद है आप एक अलग अनुभव और अध्यत्मिता को महसूस करेंगे।

इस जानकारी को शेयर करे जिसे की सभी जान सके इस मंदिर को ।